img

दिल्ली के शाहीन बाग़ में यूपी निवासियों से अजय राय का संवाद
दिल्ली। देश के सबसे बड़े सूबे उप्र में बढ़ती बेरोज़गारी के कारण यूपी का नौजवान दिल्ली या मुंबई में जाकर रोज़गार करने को मजबूर है। यूपी में बढ़ती बेरोज़गारी के लिए भाजपा सरकार की ग़लत नीतियां ज़िम्मेदार हैं। मोदी जी ने वर्ष 2014 में देश की जनता से प्रति वर्ष 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा किया था लेकिन 10 वर्ष बाद भी देश का नौजवान खाली हाथ है। देश में बेरोजगारी बढ़ाने वाली भाजपा सरकार को 2024 में जनता उखाड़ फेकेगी। उप्र कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय राय रविवार को नई दिल्ली स्थित शाहीन बाग़ में उप्र के निवासियों के साथ आयोजित जन संवाद कार्यक्रम में बोल रहे थे। 
अजय राय ने कहा कि चार राज्यों में हुए चुनावों में भले भाजपा तीन राज्यों में जीती हो लेकिन कांग्रेस को भाजपा से 10 लाख वोट ज़्यादा हासिल किए हैं। जबकि भाजपा ने पूरा चुनाव मोदी जी के चेहरे पर ही लड़ा था। जबकि कांग्रेस संभावित मुख्यमंत्रीयों के चेहरे पर लड़ी थी। इससे साबित होता है कि जनता लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ आने का मन बना चुकी है। भाजपा सरकार द्वारा एनआरसी लागू करने की किसी भी कोशिश को कांग्रेस कामयाब नहीं होने देगी।
जन संवाद के दौरान उत्तर प्रदेश के प्रभारी राष्ट्रीय सचिव तौक़ीर आलम ने कहा कि पूरे देश में सिर्फ़ कांग्रेस ही भाजपा की सांप्रदायिक नीतियों का खुल कर विरोध कर रही है। इसीलिए मुसलमानों ने पहले कर्नाटक और फिर तेलंगाना में क्षेत्रीय पार्टियों को छोड़ कर कांग्रेस का साथ दिया। देश में अब यही पैटर्न आगे भी जारी रहेगा।
उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक कांग्रेस के चेयरमैन शाहनवाज़ आलम ने कहा कि मोदी सरकार कांग्रेस सरकार द्वारा बनाये गए वक्फ़ क़ानून में बदलाव कर मुसलमानों की संपत्ति से उन्हें बेदखल करना चाहती है जिसका कांग्रेस हर संभव विरोध करेगी। शाहनवाज़ ने कहा कि सीएए-एनआरसी विरोधी आंदोलन के पुलिस दमन के ख़िलाफ़ सिर्फ़ राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने ही मुखर हो कर विरोध किया था जबकि दूसरी पार्टियों ने चुप्पी साध रखी थी। मोदी सरकार पर पूजा स्थल अधिनियम 1991 को कमज़ोर करने की साज़िश रचने का आरोप लगाते हुए शाहनवाज़ ने कहा कि भाजपा सरकार संविधान की प्रस्तावना से सेकुलर और समाजवादी शब्द हटाने का प्रयास कर रही है जिसे कांग्रेस कभी सफल नहीं होने देगी। जन संवाद कार्यक्रम का संचालन यूपी अल्पसंख्यक कांग्रेस के उपाध्यक्ष अख़लाक़। कार्यक्रम में शकील आजमी और जावेद अहमद भी उपस्थित रहे।