img

प्रशिक्षण सत्र के दौरान जूनियर्स को पीटने का वीडियो हुआ था वायरल
ठाणे। एक वायरल वीडियो में महाराष्ट्र के ठाणे शहर के एक कॉलेज में शारीरिक प्रशिक्षण सत्र के दौरान कुछ जूनियर कैडेटों को बेरहमी से पीटते हुए दिखाए जाने के बाद पुलिस ने राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) के एक वरिष्ठ कैडेट के खिलाफ मामला दर्ज किया है। एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पुलिस द्वारा मामले का स्वतरू संज्ञान लेने के बाद शुक्रवार रात ठाणे नगर पुलिस स्टेशन में छात्र के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 323 (जानबूझकर चोट पहुंचाना) के तहत मामला दर्ज किया गया।
 

यह कार्रवाई उस दिन की गई जब कई छात्र संघों ने कॉलेज के बाहर विरोध-प्रदर्शन किया, जबकि उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने राज्य विधानसभा को आश्वासन दिया कि इस मुद्दे की जांच की जाएगी और आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। यह घटना ठाणे के जोशी बेडेकर कॉलेज में हुई थी। कॉलेज प्रबंधन ने कहा कि उसने उस छात्र को निलंबित कर दिया है। गुरुवार को वायरल हुए इस वीडियो से लोगों में आक्रोश फैल गया।
 

वायरल वीडियो में आठ कैडेटों को बारिश के बीच कीचड़ में सहारे के लिए अपने हाथों का उपयोग करने के बजाय अपने सिर को कीचड़ भरी मिट्टी में दबाते हुए दिखाया गया है। वरिष्ठ एनसीसी कैडेट उनके पीछे एक छड़ी पकड़ कर खड़ा है और चुनौतीपूर्ण डील को निष्पादित करने में असफल होने पर उनमें से प्रत्येक को एक-एक करके मार रहा है।
 

वायरल वीडियो में कैडेटों को पानी से भरे क्षेत्र में पुश-अप स्थिति में दिखाया गया है, उनके पैर और सिर जमीन को छू रहे हैं और हाथ पीठ के ऊपर मुड़े हुए हैं। जब कोई कैडेट मुद्रा बदलता है, तो वरिष्ठ छात्र उसे छड़ी से पीटता है और दूसरों को भी पीटता हुआ दिखाई देता है।
 

वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होते ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंडे गुट के समर्थक तथा  उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना(यूबीटी) और कांग्रेस सहित कई छात्र संघों और राजनीतिक दलों ने शुक्रवार को कॉलेज के बाहर विरोध-प्रदर्शन किया। शिंदे समूह के छात्र विंग के नेता नितिन लांडगे ने कहा कि पीड़ित एनसीसी कैडेट और उनके माता-पिता पर कॉलेज प्रबंधन से वरिष्ठ कैडेट के खिलाफ शिकायत न करने के लिए अत्यधिक दबाव बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा, कॉलेज को इस घटना को गंभीरता से लेना चाहिए और पुलिस में शिकायत दर्ज करानी चाहिए। 

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) की छात्र शाखा के सदस्यों ने कॉलेज प्रबंधन को एक ज्ञापन सौंपकर वरिष्ठ छात्र पर सख्त कार्रवाई की मांग की। प्रदर्शनकारियों को कॉलेज में घुसने से रोकने के लिए मौके पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे।
विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय वडेट्टीवार ने उठाया मुद्दा
 

महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय वडेट्टीवार ने ठाणे में प्रशिक्षण सत्र के दौरान एनसीसी कैडेटों को एक व्यक्ति द्वारा पीटे जाने का मुद्दा उठाया। विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर ने सरकार को इस मुद्दे पर कार्रवाई करने के निर्देश दिये। डिप्टी सीएम अजित पवार ने सदन को आश्वासन दिया कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं, पूर्व सीएम पृथ्वीराज चव्हाण ने एंटी रैगिंग कानून के तहत जिम्मेदार व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।
 

एनसीसी ने भी एक बयान जारी कर कहा कि वायरल वीडियो में जो दिख रहा है वह न तो एनसीसी लोकाचार का प्रतिबिंब है और न ही किसी संगठित प्रशिक्षण या गतिविधि का हिस्सा है। विश्वविद्यालय के एक वरिष्ठ सदस्य ने कहा, इस यूनिट के एनसीसी प्रशिक्षक का हाल ही में तबादला हुआ था। 

शिक्षकों की अनुपस्थिति में वरिष्ठ कैडेट के कार्यभार संभालने के कारण यह घटना हुई। ठाणे का जोशी बेडेकर कॉलेज दो अन्य सहयोगी संस्थानों-बंदोडकर कॉलेज और वीपीएम पॉलिटेक्निक के साथ मिलकर एनसीसी इकाई का संचालन करता है। बंदोडकर कॉलेज के आरोपी छात्र को निलंबित कर दिया गया है।