img

दुमका लोकसभा स्तरीय महासम्मेलन का आयोजन
लखनऊ। लोकसभा चुनाव 2024 की उल्टी गिनती लगभग शुरू हो चुकी है। सभी राजनैतिक पार्टियां चुनावी मैदान में उतरने के लिए अपनी तैयारियां कर रही हैं। इसी कड़ी में रविवार दिनांक 21 जनवरी 2024 को दुमका ज़िला महिला कांग्रेस की अध्यक्ष मार्था हांसदा के नेतृत्व में दुमका लोक सभा स्तरीय महासम्मेलन का आयोजन ज़िला कार्यालय में किया गया। दुमका ज़िला कांग्रेस कार्यालय में झारखंड प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्षता गुंजन सिंह मुख्य रूप से उपस्थित रही। इस अवसर पर महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष ने उपस्थित महिला के जनसामों को संबोधित करते हुए कहा की इस समय हमारा देश एक विषम परिस्थिति के दौर से गुज़र रहा है। जो लोग राम के भक्त बने फिर रहे हैं और प्राण प्रतिष्यठा का आयोजन करा रहे हैं यह केवल लोकसभा का चुनावी स्टंट है। हम तो आदिकाल से भगवान राम को पूजते आए हैं। इस देश में नफ़रत की राजनीति को बढ़ावा दिया जा रहा है। जो लोग आज हिंदू धर्म के पुजारी बन बैठे हैं उनके कथनी और करनी में बड़ा अंतर है। ऐसे लोग राम भक्त होने का ढोंग करते हैं जबकि भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं का शारीरिक शोषण होता है और हमारे देश के प्रधानमंत्री चुप बैठे रहते हैं। 
हमारे नेता राहुल गांधी का संदेश गांव-गांव पहुंचाने का हो प्रयास
श्रीमती मार्था हांसदा ने कहा कि समय आ गया है जब हमें महिलाओं को जागृत करना होगा। महिला कांग्रेस का दुमका ज़िला स्तरीय सम्मेलन आने वाले दिनों में मिल का पत्थर साबित हो ऐसा हमारा प्रयास होना चाहिए। उन्होंने कहा की राजनीति और धर्म दोनों अलग-अलग हैं लेकिन भाजपा के लोग हिंदुत्व के सीने पर चोट करते हैं और नफ़रत की राजनीति फैलाने का काम करते हैं, जबकि कांग्रेस समान विचारधारा को लेकर के चलती है। हमारे नेता राहुल गांधी ने 4000 किमी. की भारत जोड़ो यात्रा कर इतिहास रच दिया। 14 जनवरी को शुरू हुई भारत जोड़ो न्याय यात्रा जिसकी शुरूआत मणिपुर से हुई है लगभग 6700 किमी. की है जिसे पैदल चलकर मुंबई में पूरा किया जाएगा। ऐसे में हम सभी महिला कांग्रेसियों का फर्ज़ बनता है कि हम इस विद्वेष की राजनीति को समझें और गांव में जाकर लोगों को को देश की वर्तमान स्थिति से अवगत करायें और साथ ही देश को एकजुट करने की हमारे नेता की सोच को लोगों तक पहुंचाएं। 
इस अवसर पर सभा को दुमका ज़िला कांग्रेस के अध्यक्ष महेश राम चंद्रवंशी ने संबोधित करते हुए कहा कि राम मंदिर के उद्घाटन के नाम पर भाजपा धनोरा पीट रही। जबकि मंदिर का ताला राजीव गांधी ने खुलवाया था। यदि भाजपा के लोग इस मामले को कोर्ट में लेकर नहीं जाते तो मंदिर निर्माण अब तक हो चुका होता। बैठक में जामताड़ा महिला ज़िला अध्यक्ष बेबी पासवान, अरविन्द कुमार, टिंकू अली इमाम, शहरोज़ शेख़, सत्यनारायण यादव, विलियम टुडू, पोलूस मुर्मू, मजीद अंसारी, कलाम अंसारी, अमरलता सिंह, छबी दास, गरिमा उर्वशी सिंह, अनामिका किस्कू, गीता हेम्ब्रम, रेणुका मरांडी, क्लीमेंटीना हांसदा, मंजू मुर्मू, मालोती कॉलीन, परिस्का कॉलीन, सुजाता किस्कू, मुनी देवी, दलोरेस मरांडी, कृष्टीना सोरेन, एल्बीना मुर्मू, चुड़की मुर्मू, रेणुका टुडू, एलिजाबेथ टुडू, बसंती मरांडी, पिंकी मरांडी, मरयम हेम्ब्रम, लुखी टुडू, इती बर्मन, ज्योति देवी, रेखा देवी, निर्मला देवी, अंजलि देवी, मंजू देवी, रेशमा देवी, मौसमी देवी, शिला हेम्ब्रम, नॉमिता मुर्मू, रूबी हांसदा, हीरामणि, कोल्हिन, फूल कुमारी कौलीन, पानू कौलीन, सिमन्ति कौलीन, परमिला कौलीन, तगी देवी, मलोटी कौलीन, चुड़की मुर्मू, मीनू हांसदा, सुगुरमुनि टुडू, टपले देवी समेत सैंकड़ों कांग्रेसी महिला कार्यकर्ता उपस्थित रहीं।