img

मंत्री का बयान मुस्लिम दुकानदारों के ख़िलाफ़ हिंसा का माहौल बनाने की साज़िश
लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार के मन्त्री कपिल देव अग्रवाल द्वारा मुस्लिम व्यापारियों के कांवड़ मेलों में हिंदू देवी-देवताओं के नाम पर दुकान न लगाने के बयान को अल्पसंख्यक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज़ आलम ने निंदनीय बताते हुए उन्हें पद से हटाने की मांग की है।
उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक चेयरमैन शाहनवाज़ आलम ने उप्र सरकार के मंत्री कपिल देव अग्रवाल के बयान पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जिन मन्त्रियों को संविधान की जानकारी नहीं है अथवा जो उसकी भावनाओं के विपरीत सोच रखते हैं उन्हें अपने पद पर बने रहने का कोई औचित्य नहीं। शाहनवाज़ ने कहा कि मन्त्री कपिल देव अग्रवाल का यह बयान संविधान के आर्टिकल 19 (1) (जी) के विरुद्ध हैं जो हर किसी को अपनी इच्छा से अपना व्यापार करने का अधिकार देता है। इसके तहत हर किसी को अपनी इच्छा से अपने प्रतिष्ठान का नाम रखने का अधिकार भी निहित है. वहीं संविधान का आर्टिकल 15 धर्म, जाति और नस्ल के आधार पर भेदभाव को निषिद्ध करता है। ऐसे में उप्र के मंत्री कपिल देव अग्रवाल का बयान पूरी तरह से संविधान विरोधी माना जाएगा। 
शाहनवाज़ आलम ने कहा कि योगी सरकार के मन्त्री का बयान कांवड़ यात्रा के दौरान मुस्लिम दुकानदारों के ख़िलाफ़ हिंसा का माहौल बनाने की साज़िश का हिस्सा है।