img

भोपाल। ग्वालियर की अंजू थॉमस के पाकिस्तान जाने की जांच अब मध्य प्रदेश पुलिस की स्पेशल ब्रांच करेगी। प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने इसके आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि 'पाकिस्तान में अंजू की जिस तरह आवभगत हो रही है, लोग उससे मिल रहे हैं, उससे कहीं न कहीं संदेह को बल मिलता है।

गृहमंत्री डॉ. मिश्रा ने सोमवार को मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए अंजू की जिस तरह से पाकिस्तान में आवभगत हो रही है, उपहार मिल रहे हैं, उससे कई संदेह जन्म लेते हैं और इसलिए स्पेशल ब्रांच को मामले की सूक्ष्मता से परीक्षण करने को कहा गया है। इस बात की जांच करने को कहा गया है कि कहीं यह अंतरराष्ट्रीय स्तर की साजिश तो नहीं है। यदि यह अंतरराष्ट्रीय साजिश हो तो इसे ध्यान में रखकर अंजू वाले केस को देखे।

गौरतलब है कि मप्र के ग्वालियर जिले में टेकनपुर के पास स्थित बौना गांव की रहने वाली 34 वर्षीय अंजू थॉमस 30 दिन के वीजा पर गत 21 जुलाई को अपने फेसबुक फ्रेंड से मिलने के लिए पाकिस्तान पहुंची थी। अंजू के पिता गया प्रसाद थॉमस बौना गांव में ही रहते हैं। अंजू की शादी 2007 में राजस्थान के भिवाड़ी (अलवर) निवासी अरविंद कुमार से हुई थी। दोनों की 13 साल की बेटी और एक 5 साल का बेटा है। दो बच्चों की मां अपने पति और बच्चों को छोड़ कर पाकिस्तान पहुंच गई। उसने वहां इस्लाम कबूल कर अपना नाम फातिमा रख लिया और अपने फेसबुक फ्रेंड नसरुल्लाह से निकाह कर लिया। पाकिस्तान में उसे विशेष सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं।